Placeholder canvas

दीपावली में Gold के आभूषण खरीदते समय रखें इन 5 बातों का ध्यान, नहीं तो हो सकता है बड़ा नुकसान

मौजूदा समय में त्योहारी सीजन चल रहा है। लोग तमाम तरह की खरीदारियों और त्यौहार की तैयारियों में में जुटे हुए हैं। धनतेरस पर Gold की खरीदारी करना शुभ होता है। ऐसे में करवाचौथ पर देश भर में तकरीबन 3 हजार करोड़ का सोने का कारोबार हुआ था।

मगर अब भी त्योहारी सीजन में दीपावली से पहले सर्राफा बाजारों में रौनक मौजूद है। वैसे तो धनतेरस पर लोग Gold में इन्वेस्टमेंट करते हैं। मगर अब सोने के दामों में पहले की अपेक्षा कमी देखी जा रही है। ऐसे में एक बार फिर Gold के कारोबारियों के चेहरे पर चमक आने की उम्मीद है।

ऐसा माना जा रहा है कि इस बार धनतेरस में भी Gold की जबर्दस्त खरीदारी देखने को मिल सकती है। ऐसे में अगर आप भी धनतेरस पर सोने की खरीदारी करना चाह रहे हैं तो इस आर्टिकल में नीचे दिए गए कुछ सुझावों पर गौर कर सकते हैं। सोना लोगों के लिए कठिन आर्थिक स्थितियों से निपटने के लिए अहम भूमिका अदा करता है।

ऐसे में आप जब कभी भी Gold की खरीदारी करें तो अच्छी तरह से इस चीज को धता की जांच अवश्य कर लें। ऐसा इसलिए जरूरी है कि जब कभी भी आप इसे बेचने या फिर गिरवी रखने जाएंगे तो उस दौरान अगर सोने में मिलावट पाई जाती है तो इसके दामों में कमी देखने को मिलेगी। ऐसे में सोने की खरीदारी करते वक्त आपको कई तरह की सावधानियां बरतने की जरूरत है।

1. हमेशा हॉलमार्क लगा Gold ही खरीदें

आप जब भी Goldकी खरीदारी करने जाएं तो आप ब्यूरो ऑफ इंडियन स्टैंडर्ड (BIS) के हॉलमार्क वाला सर्टिफाइड गोल्ड ही खरीदें। देश की सरकार ने अब इसे अनिवार्य तौर पर लागू कर दिया है। इसके अतिरिक्त सोना या आभूषण खरीदते वक्त शुद्धता कोड, ज्वेलर का मार्क, टेस्टिंग सेंटर मार्ग और मार्किंग की डेट भी अवश्य देख लें।

2. सोने के रेट कई स्रोतों से कर लें पता

गोल्ड के सही वजन के मुताबिक इसकी खरीदारी करें और इसकी सही कीमत कई जगहों से जान ले। सोने की सही कीमत पता करने के लिए आप ऑनलाइन तरीका अपनाकर इंडियन बुलियन एंड ज्वेलर्स एसोसिएशन (IBJA) की वेबसाइट पर विजिट करके उस दिन के Gold के रेट के बारे में जानकारी जुटा सकते हैं। आपको बताते चलें कि गोल्ड का रेट 24 कैरेट, 22 कैरेट और 18 कैरेट के अनुसार अलग-अलग दिया होता है।

ये भी पढ़ें- Gold असली है या नकली, मिनटों में घर बैठे इन 7 तरीकों से करें पहचान, बेहद आसान है तरीका

3. Gold की खरीदारी करने के बाद बिल ज़रूर ले लीजिए

आप जब कभी भी सोने की खरीदारी करें तो आप के लिए कैश पेमेंट करना खतरनाक साबित हो सकता है। ऐसे में यूपीआई और नेट बैंकिंग का उपयोग करते हुए पेमेंट करना अधिक सही माना जाता है।

सोने की खरीदारी के लिए क्रेडिट या डेबिट कार्ड का भी उपयोग कर सकते हैं। और सोने की खरीदारी करने के बाद बगैर बिल लिए गोल्ड की शॉप से बाहर ना जाए। और अगर आपने ऑनलाइन आर्डर किया है तो पैकिंग की अच्छी तरह से जांच परख कर लें।

4. प्रतिष्ठित ज्वेलर्स करें गोल्ड की खरीदारी

अपने साथ होने वाली किसी भी तरह की ठगी से बचने के लिए आप हमेशा किसी जाने-माने, भरोसेमंद आभूषण विक्रेता से ही ज्वेलरी खरीदें। ऐसा इसलिए क्योंकि बड़े ज्वेलर्स टैक्स और विभिन्न तरह की गाइडलाइन नियमानुसार पालन करते हैं। ऐसे में उनकी ब्रांड वैल्यू और बढ़ती है। और भी अपनी ब्रांड वैल्यू को बढ़ाने के लिए ग्राहकों के साथ किसी भी तरह की धोखाधड़ी नहीं करते हैं।

5. मेकिंग चार्ज का विशेष ध्यान रखें

गौरतलब है कि Gold की खरीदारी करते समय मेकिंग चार्ज का विशेष ध्यान रखें। मशीन से बनी ज्वेलरी पर 3 से 25% तक मेकिंग चार्ज लगता है। प्योर गोल्ड का मेकिंग चार्ज सबसे कम होता है। ध्यान देने वाली बात यह है कि कुछ आभूषण विक्रेता बारीक डिजाइन वाले गहने भी बनाते और बेचते हैं। ऐसी ज्वेलरी पर मेकिंग चार्ज लगभग 30% तक का हो सकता है।

ये भी पढ़ें- दिवाली से पहले सस्ता हुआ सोना, चांदी के भाव भी गिरे, फटाफट चेक कर लें 10 ग्राम Gold की कीमत

Leave a Comment