Placeholder canvas

कुवैत: DGCA ने की घोषणा, गैर-टीकाकृत लौटने वाले घरेलू कामगारों को रहना होगा 14 दिनों तक क्वारंटीन

कुवैत में प्रवेश के लिए अगर किसी घरेलू कामगार को अनुमति मिलती है और अगर उसने कोविड-19 वैक्सीन नहीं लगा रखा है तो ऐसे घरेलू कामगारों को 14 दिनों तक क्वारंटीन में रहना होगा।

दरअसल नागरिक उड्डयन महानिदेशालय ने जानकारी देते हुए कहा कि कुवैत लौटने वाले घरेलू कामगार स्वास्थ्य आवश्यकताओं के अधीन हैं। ऐसे में स्वास्थ्य मंत्रिपरिषद के निर्णय को कुवैत अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा लागू करता है। DGCA के पास कुवैत में प्रवेश करने वाले किसी भी यात्री को अनुमति देना या फिर रोकने का कोई अधिकार नहीं है।

अल राय की रिपोर्ट के अनुसार, देश में प्रवेश करने की अनुमति देने वाले गैर-टीकाकृत घरेलू कामगारों को 14 दिनों की अवधि के लिए संस्थागत क्वारंटीन रहना होगा। इसके अलावा पीसीआर परीक्षण की निगेटीव रिपोर्ट भी देनी पड़ेगी। यह रिपोर्ट 72 घंटे से अधिक नहीं होनी चाहिए।

कुवैत: DGCA ने की घोषणा, गैर-टीकाकृत लौटने वाले घरेलू कामगारों को रहना होगा 14 दिनों तक क्वारंटीन

कुवैत हवाई अड्डे पर आगमन पर यात्रियों का Swab परीक्षण लिया जाएगा। साथ ही पहले से बुक किए गए होटल में संस्थागत क्वारंटाइन जरूरी होगा। सूत्रों ने कहा कि यह सच नहीं है कि गैर-टीकाकरण वाले घरेलू कामगारों के लिए 14 दिनों की अवधि के लिए होटल संगरोध में छूट देने के बारे में सोशल मीडिया पर क्या प्रसारित किया जा रहा है।

आपको बता दें, कुवैत ने कोविड-19 वैक्सीन लगा चुके प्रवासियों को 1 अगस्त से देश में प्रवेश करने की अनुमति देने की बात कही है। इसको लेकर कुवैत ने घोषणा करी है कि वह उन विदेशियों को एक महीने के लंबे निलंबन के बाद 1 अगस्त से देश में प्रवेश करने की अनुमति देगा, जिन्हें कोरोनवायरस के खिलाफ पूरी तरह से टीका लगाया गया है।

हालांकि घरेलू कामगारों को कुवैत में प्रवेश के लिए टीके की दो खुराक पूरी करने की शर्त से बाहर रखा गया है। घरेलू श्रम कार्यालयों के संघ ने स्पष्ट किया। फेडरेशन ने अपने ट्विटर अकाउंट में कहा कि “कैबिनेट के फैसले में स्पष्ट किया गया है कुवैत में प्रवेश करने के लिए टीके की दो खुराक पूरी करने की शर्त में घरेलू कामगार शामिल नहीं हैं और उन्हें घोषित निर्णयों से बाहर रखा गया है। ” कुवैत ने इससे पहले देश में घरेलू कामगारों के प्रवेश के लिए एक एप में पंजीकरण कर अलग प्रक्रिया बनाई थी।

 

Leave a Comment