skip to content

सोने के गहने खरीदते वक्त इन 5 बातों का रखें ध्यान, होगा बड़ा फायदा

भारत में लोग शादियों और त्योहार के मौके सबसे ज्यादा सोना खरीदते हैं क्योंकि भारत में शादी के समय सोने की गहने की आवश्यकता होती है साथ ही त्योहार के मौके यहाँ पर सोना खरीदना शुभ माना गया है। वहीं इस बीच इस पोस्ट के जरिये हम आपको सोने के गहने खरीदते वक्त उन 5 बातों की जानकारी देने जा रहे हैं जिनका ध्यान आपको सोना खरीदते समय रखना है।

1.सोने का भाव जाने

सोने के गहने खरीदते वक्त इन 5 बातों का रखें ध्यान, होगा बड़ा फायदा

 

सोना खरीदने से पहले अपने शहर का उस दिन के सोने का भाव को जरूर चेक कर लें। ऐसा इसलिए कह रहे हैं कि क्योंकि हर शहर में सोने की कीमत अलग-अलग हो सकती हैं।

2.चेक करें सोने का कैरेट

सोने के गहने खरीदते वक्त इन 5 बातों का रखें ध्यान, होगा बड़ा फायदा

वहीं दूसरी बात बात सोने की शुद्धता मापना और इसका असान पैमाना कैरेट होता है। सोने का कैरेट जितना ज्यादा होगा सोना उतना ही शुद्ध और अच्छा होगा।

 3. हॉलमार्क

सोने के गहने खरीदते वक्त इन 5 बातों का रखें ध्यान, होगा बड़ा फायदा

तीसरी बात हॉलमार्क है अगर आप सोना खरीदने जा रहे है तो आप हॉलमार्क जरुर चेक करें। दरअसल, भारत सरकार की तरह एक सरकारी मार्क दिया जाता है और  हॉलमार्किंग का निर्धारण ब्यूरो ऑफ इंडियन स्टैंडर्ड यानी BIS करती है और ये सोने के असली होने की जानकारी देता है।

4. नगीना जड़ी हुई ज्वेलरी

सोने के गहने खरीदते वक्त इन 5 बातों का रखें ध्यान, होगा बड़ा फायदा

चौथी बात ये हैं कि आप नगिना जड़ी हुई अंगूठी ना खरीदें। क्योंकि भले ही ये गहने दिखने में अच्छे लगते हो, लेकिन कई ज्वेलर्स गहने तौलते टाइम नगीनों का वजन भी सोने के साथ लोग देते है। जिसकी वजह से आपको नगिना का दाम भी सोने के भाव से देना पड़ता है।

5. मेकिंग चार्ज में मोलभाव करें

सोने के गहने खरीदते वक्त इन 5 बातों का रखें ध्यान, होगा बड़ा फायदा

सुनार द्वारा सोने के गहने पर मेकिंग चार्ज लगाया जाता है और ये मेकिंग चार्जस गहनों की बनावट, कटिंग और फिनिशिंग के लिए लिया जाता है। वहीं सोने के गहने पर मेकिंग चार्ज दो टाइप के फिक्स होते हैं, एक तो सोने के दाम पर तय होते या फिर हर ग्राम सोने पर फ्लैट मेकिंग चार्ज पर किए जाते हैं। वहीं ज्वेलर्स कास्टमर्स के मोलभाव करने पर सोने के गहने पर लगने वाला मेकिंग चार्ज कम कर लेते है, इसलिए दो बार मेकिंग चार्ज पर मोलभाव जरूर करें।