Placeholder canvas

किसानों को होगा बड़ा मुनाफा, दुबई निर्यात होगी गाजीपुर की हरी मिर्च, जानिए खाड़ी देश में कितना दाम

भारत की कई विभिन्न प्रकार की सब्जियों का विदेशों में निर्यात किया जाता है। इसी कड़ी में गाजीपुर की मिर्च का भी नाम जुड़ गया है। हाल ही में देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गाजीपुर स्थित करखियाव के इंटीग्रेटेड पैक हाउस का लोकार्पण किया था। अब यहां से सोमवार को नींबू, हरी मिर्च और पपीता विदेश भेजा जाएगा।

गाजीपुर के किसान उत्पादक संगठन की ओर से पहली खेप तकरीबन डेढ़ टन मिर्च विदेश भेजी जाएगी। भारत की सब्जियों का विदेशों में निर्यात होने से किसानों को बड़ा फायदा होने का अनुमान है। हाल ही में देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पैक हाउस का लोकार्पण किया था।

गाजीपुर के किसान उत्पादन संगठन की निदेशक राम कुमार राय ने बताया कि रमजान के महीने में दुबई, शारजाह, कतर और ओमान में नींबू, हरी मिर्च और पपीता की डिमांड पहले से और बढ़ जाती है। इसी को ध्यान में रखते हुए यहां से सोमवार के दिन पैक हाउस से शारजाह तकरीबन डेढ़ हरी मिर्च भेजी जानी है। इसके बारे में संबंधित अधिकारियों से बातचीत भी फाइनल हो चुकी है।

ये भी पढ़ें :भारत से सस्ता मिलता है दुनिया के इन देशों में Gold, जानिए विदेश से कितना सोना ला सकता है कोई नागरिक

गाजीपुर की ₹30 की मिर्च बिकेगी ₹250 प्रति किलोग्राम में

आपको बता दें कि नहीं कि जो हरी मिर्च गाजीपुर के बाजार में ₹30 और ₹40 प्रति किलो बिक रही है उससे पैकिंग करने के बाद विदेश भेजा जाएगा ऐसे में किसानों को प्रति किलोग्राम में ₹10 तक का मुनाफा होगा जबकि विदेश भेजने पर कस्टम, ग्रेडिंग सहित अन्य तरह की लागत आने पर तकरीबन ₹94 खर्च हो जाते हैं ऐसे में दुबई में भारत की मिर्च लगभग ढाई सौ से ₹260 प्रति किलो में बिकेगी।

कम समय में विदेश पहुंच जाएगी गाजीपुर की मिर्च

आपको बताते चलें कि पहले के समय में ऐसा नहीं होता था भारत से विदेश सब्जी भेजने में तकरीबन 4 से 5 दिनों का समय लगता था लेकिन अब 24 घंटे में ही गाजीपुर की मिर्च दुबई के बाजार में उपलब्ध होगी। और पहले के मुताबिक इसे बाहर भेजने में अधिक मशक्कत भी नहीं करनी पड़ती है।

ये भी पढ़ें :विदेश यात्रा के दौरान अगर खो जाए आपका पासपोर्ट तो कैसे लौटे स्वदेश? काम आएगी ये जानकारी

Leave a Comment