दुबई में नौकरी दिलाने के बहाने युवक से 2 लाख रुपए की ठगी, असली पासपोर्ट भी नहीं किया वापस

नौकरी के नाम पर लाखों रुपए की ठगी का मामला प्रकाश में आया है। दुबई में नौकरी दिलाने के बहाने तीन लोगों ने दयालगढ़ के रहने वाले तिलकराज से 2 लाख की ठगी की है। इतना ही नहीं उसका ओरिजिनल पासपोर्ट भी नहीं लौट आया है।

विदेश में नौकरी के लिए ना भेजने पर पीड़ित ने आरोपियों के ऑफिस जाने का फैसला किया। जब वहां ऑफिस पहुंचा तो वहां पर ताला लटक रहा था। ऐसे में पीड़ित का आरोपियों पर सीधा आरोप है कि उन्होंने ना सिर्फ उसको ठगा है बल्कि कई अन्य लोगों को भी विदेश भेजने के नाम पर लाखों रुपए हड़प लिए हैं। इस पूरे मामले में बुड़िया थाना क्षेत्र की पुलिस ने महिला समेत तीन आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करके कार्रवाई शुरू कर दी है।

सब डाक्यूमेंट्स भी जमा कराए

ठगी का शिकार होने वाले तिलकराज ने पुलिस को शिकायत देते हुए कहा कि पिछले मार्च महीने में उसने फेसबुक पर विदेश में नौकरी करने का विज्ञापन देखा था। उसने विज्ञापन देखकर विज्ञापन में दिए गए नंबर पर कांटेक्ट किया। ऐसे में उसकी बातचीत चंडीगढ़ के रहने वाले धर्मवीर से हुई।

मामले में आरोपी ने युवक को बताया कि चंडीगढ़ सेक्टर 34a में उनका ऑफ राइजिंग गोपी के नाम से ऑफिस है। और भी लोगों को नौकरी के लिए विदेश भेजने का काम करते हैं। ऐसे में पीड़ित व्यक्ति ने अपना वीजा लगवाने की बात कही।

पीड़ित व्यक्ति को आरोपियों ने अपने दफ्तर में बुलाया जहां पर धर्मवीर, अश्विनी और कोमल पीड़ित से मिले। ठगी करने वाले लोगों ने पीड़ित से पासपोर्ट, कक्षा 10 का प्रमाण पत्र, आधार कार्ड और अन्य डॉक्यूमेंट मांगे। इसी दौरान आरोपियों ने पीड़ित से दुबई भेजने के नाम पर 2 लाख रुपयों का खर्च लगने की बात कही। आरोपी धर्मवीर यमुनानगर आया। जहां पर उसने पीड़ित से असली पासपोर्ट, दस्तावेज और 80 हजार रुपए लिए।

ये भी पढ़ें- भारत के इस शहर से दुबई के लिए जल्द उड़ेगी Direct Flight, टिकट बुकिंग चालू; जानिए क्या है न्यूनतम किराया

पुलिस ने दिया हर संभव मदद का आश्वासन

आपको बताते चलें कि पीड़ित से 80 हजार रुपए लेने के बाद आरोपी ने पीड़ित को बताते हुए कहा कि उन्होंने उनकी फाइल दुबई के लिए लगवाने की बात कही। इसके बाद 12 अप्रैल को का अपनी दोस्त के साथ आरोपी के ऑफिस गया। ऑफिस में आरोपियों ने पीड़ित से इकरारनामा लिखवाया और 80 हजार रुपए लिए।

ऐसे में बाकी बचे 40 हजार रुपए वीजा लगने के बाद देने की बात कहीं। उस दिन बीतने के बाद आरोपियों ने पीड़ित को बताया कि उसका वीजा लग गया है। और उसकी टिकट भी आ गई है। 22 मई को उड़ान के जरिए उसे दिल्ली से दुबई के लिए रवाना होना है। ऐसे में पीड़ित ने आरोपियों को बाकी के ₹40000 भी दे दिए।

इस दौरान आरोपी ने यमुनानगर आकर वीजा और टिकट पीड़ित को देने की बात कही। ऐसे में ठगी का शिकार हुआ युवक तय समय पर आरोपियों का इंतजार किया मगर वे नहीं आए। इसके बाद वह आरोपियों के ऑफिस पहुंचे तो ऑफिस के गेट पर ताला लटकता मिला। और आप इस पर ना तो बोर्ड थाना बैनर थे।

ऐसे में युवक को अपने साथ ठगी होने का अंदेशा हुआ। इस पूरे मामले पर बुडिया थाना प्रभारी ने जानकारी देते हुए बताया है कि मामले में तीनों आरोपियों के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। आरोपियों की खोजबीन की जा रही है।

ये भी पढ़ें- दुबई के बाद अब अबूधाबी में हो रहा विशाल हिंदू मंदिर का निर्माण, जानिए कब से खुलने की उम्मीद

Leave a Comment