कुवैत के श्रम बाजारों में प्रवासी कामगारों की संख्या में आई कमी

कुवैत से एक बड़ी खबर सामने आई है और ये खबर प्रवासी श्रमिकों की भारी कमी को लेकर है। विशेष रूप से पेशेवर और शिल्प क्षेत्रों में प्रवासी श्रमिकों की भारी कमी आई है और इस बात की जानकारी अखबार अल जरीदा ने दी है।

अखबार अल जरीदा की एक रिपोर्ट के अनुसार,  महामारी की शुरुआत के बाद से अब तक, दसियों हज़ार प्रवासी श्रमिकों ने कुवैत को स्थायी रूप से छोड़ दिया है, साथ ही जिनके निवास की अवधि समाप्त हो गई है, उन लोगों ने भी देश छोड़ दिया है। वहीं जो लोग विदेश में थे और अब लौटने में असमर्थ है। इस वजह से पेशेवर और शिल्प क्षेत्रों में प्रवासी श्रमिकों की कमी दर्ज की गयी है।

वहीं विश्वविद्यालय की डिग्री के बिना 60 वर्ष और उससे अधिक उम्र के प्रवासियों के लिए, जिन्हें हाल ही में अपने निवास को रीन्यू करने की अनुमति दी गई थी, लेकिन उन्हें 250 कुवैती दिनार और एक बीमा पॉलिसी को रीन्यू करने के लिए 500 कुवैती दिनार का शुल्क देना पड़ रहा है। वो भी देश छोड़ रहे हैं।

वहीं यह अनुमान लगाया गया है कि 60 वर्ष और उससे अधिक उम्र के 7,000 से अधिक श्रमिकों ने कुवैत को छोड़ दिया है, जिससे बाजार पर सीधा प्रभाव पड़ा है।

वहीं इसी बीच कुवैत के नागरिक उड्डयन महानिदेशालय के महानिदेशक, इंजीनियर यूसेफ अल-फौजान ने जानकारी दी है कि कुवैत अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा जल्द ही इस गर्मी में पूरी क्षमता हासिल कर लेगा क्योंकि महामारी के बाद जीवन सामान्य हो गया है, जिसने हवाई अड्डे के संचालन पर कई प्रतिबंध लगाए हैं।

वहीं विमानों की संख्या के संदर्भ में, हवाईअड्डा वर्तमान में अपनी परिचालन क्षमता के 60% पर परिचालन कर रहा है। वर्तमान में, लगभग 300 दैनिक उड़ानें उपलब्ध हैं, और यह संख्या पूरे गर्मियों में 500 तक बढ़ने की उम्मीद है।

Leave a Comment