टूरिस्ट वीजा पर दो युवकों को भारत से भेजा DUBAI, नौकरी दिलाने के नाम पर 2.20 लाख रुपए की ठगी

आज के दौर में बेरोजगारी देश की सबसे बड़ी समस्या है। अगर यह कहा जाए तो इसमें कोई दो राय नहीं होनी चाहिए। इसी के चलते युवा बेरोजगार जालसाजी के झांसे में आकर अपनी जमा पूंजी गंवा देते हैं।

इसी कड़ी में दुबई में नौकरी लगवाने के नाम पर जालसाजो ने दो युवकों के साथ ठगी करते हुए 2.20 लाख रुपए की चपत लगाई है। दोनों दोस्तों को जालसाज ने टूरिस्ट वीजा पकड़ा दिया। इसके बाद टूरिस्ट वीजा पर नौकरी न मिलने के कारण दोनों वापस लौट आए।

अब इस ठगी के मामले में पुलिस से शिकायत की गई है मगर अभी तक कोई उचित कार्रवाई नहीं हुई है। जबकि न्यायालय के आदेश पर पुलिस ने सगे भाइयों के विरुद्ध केस दर्ज करके जांच शुरू कर दी है।

टूरिस्ट वीजा पर भेज दिया दुबई नौकरी के लिए

जनपद की सदर कोतवाली के सराय मीना के रहने वाले संदीप कुमार पुत्र गोविंद ने कहा कि शहर के सैयद वाडा मोहल्ले के निवासी मोहम्मद इसरार से उसकी जान-पहचान थी। उसी ने बताया कि उसका भाई मोहम्मद इसरार कई युवकों को विदेश में नौकरी करने के लिए भेज चुका है जहां पर उन्हें 20000 हज़ार प्रति महीने की तनख्वाह भी मिलती है।

इसके बाद इसरार के झांसे में आकर दोस्त मोहम्मद शरीफ अरबपुर के साथ इसरार के घर जाकर नवंबर महीने में 50 -50 हजार रुपए दे दिए और उसके बाद वीजा और टिकट के नाम पर रुपए लिए।

परिजनों ने स्वदेश लौटने के लिए भेजे टिकट

fraud

दोबारा 28 दिसंबर 2020 को वीजा और टिकट व्हाट्सएप पर भेज कर 50 – 50 हजार रुपए और ऐंठ लिए। इसके बाद 1 जनवरी 2021 को वो अपने दोस्त शरीफ के साथ दुबई चला गया। वहां पहुंचने पर उसे जानकारी हुई थी टूरिस्ट वीजा पर नौकरी नहीं मिलती है।

इस बात से हैरान युवक ने अपने परिजनों को पूरी आपबीती सुनाई। जिसके बाद परिजनों ने दुबई से वापस लौटने के लिए टिकट भेजे। विदेश से लौटने के बाद ठगी के शिकार होने वाले युवकों ने कोतवाली पुलिस के रिपोर्ट में दर्ज करने के बाद उन्होंने कोर्ट में मुकदमा दायर किया था।

गौरतलब है कि सीओ सिटी दिनेश चंद्र मिश्र ने जानकारी देते हुए कहा कि न्यायालय के आदेश पर सगे भाई मोहम्मद इरशाद व मोहम्मद इसरार पुत्र डॉ तुफैल हाजी निवासी सैयदवाड़ा पर एससी एसटी अधिनियम के अंतर्गत धोखाधड़ी व धमकी देने का केस दर्ज किया गया है। जल्दी दोनों को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया जाएगा।

Leave a Comment