skip to content

हवाई जहाज में जन्म लेने वाले बच्चे को किस देश की मिलेगी नागरिकता और क्या होगा जन्म स्थान, जानिए यहां

आज की भागदौड़ भरी लाइफ में अधिकतर लोग लंबी दूरी को कम समय में तय करने के लिए विमान का सहारा लेते हैं और हजारों किलोमीटर की दूरी कम समय में पूरा करते हैं।

लेकिन हवाई जहाज से यात्रा करने के दौरान कई बार ऐसा देखा गया है कि इस दौरान प्रेग्नेंट लेडी हवाई यात्रा कर रही होती हैं और वे हवाई सफर के दौरान ही अपने बेबी को हवाई जहाज में ही जन्म देती हैं। लेकिन यहां पर आपको मालूम होना चाहिए कि भारत में 7 महीने या उससे अधिक की प्रेगनेंट लेडी को हवाई यात्रा की अनुमति नहीं है। मगर कुछ विशेष कारणों के चलते उन्हें हवाई यात्रा की अनुमति मिलती है।

बच्चे के पास होता है दोनों देशों की नागरिकता हासिल करने का अधिकार

हवाई जहाज में जन्म लेने वाले बच्चे को किस देश की मिलेगी नागरिकता और क्या होगा जन्म स्थान, जानिए यहां

मान लीजिए कि अगर कोई महिला इंडिया से इंग्लैंड जाने वाली एरोप्लेन में बच्चे को जन्म देती है तो ऐसे में सवाल खड़ा होता है कि उस बच्चे का जन्म स्थान और नागरिकता कहां की मानी जाएगी। इस संदर्भ में इस बात पर गौर करना होगा कि बच्चे का जन्म जिस दौरान हुआ है उस समय विमान किस देश की सीमा में उड़ रहा था।

जिस देश में एयरोप्लेन की लैंडिंग होती है। वहां की एयरपोर्ट अथॉरिटी से बर्थ सर्टिफिकेट से संबंधित डाक्यूमेंट्स कलेक्ट किए जा सकते है। इसके साथ ही नवजात शिशु के पास अपने माता-पिता की नागरिकता हासिल करने का भी अधिकार होता है।

जानिए क्या कहता है भारतीय कानून इस संबंध

हवाई जहाज में जन्म लेने वाले बच्चे को किस देश की मिलेगी नागरिकता और क्या होगा जन्म स्थान, जानिए यहां

मान लीजिए कि अगर बांग्लादेश में हवाई सफर शुरू करने वाले विमान से अमेरिका जाने वाला विमान इंडियन सीमा से गुजर कर गया है और उसी विमान में किसी महिला ने बच्चे को जन्म दिया है तो ऐसे में उस बच्चे का बर्थ प्लेस यानी कि जन्म स्थान भारत माना जाएगा और बच्चे को भारत की नागरिकता मिल सकती है।

भारत की नागरिकता लेने के साथ बच्चे के पास अपने माता-पिता की नागरिकता हासिल करने का भी अधिकार होता है। लेकिन गौर करने वाली बात यह है कि भारत में 2 देशों की नागरिकता पर प्रतिबंध है।

अमेरिका में आया था एक मामला सामने

आपको बताते चलें कि ऐसा एक मामला अमेरिका में सामने आए चुका है। एक विमान नीदरलैंड की राजधानी एम्सटर्डम से अमेरिका के लिए उड़ान भर कर जा रहा था और इसी दौरान महिला ने विमान में हवाई सफर के दौरान बच्ची को जन्म दिया था। और उस दौरान विमान अटलांटिक महासागर के ऊपर उड़ान भर कर अपना सफर तय कर रहा था।

प्लेन की लैंडिंग करने के बाद मां और बच्चे को अमेरिका के हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया। महिला ने अमेरिका की सीमा के अंदर बच्ची को जन्म दिया था ऐसे में बच्ची को अमेरिका और नीदरलैंड दोनों देशों के नागरिक था मिली थी। मगर यहां पर आपको बताते चलें कि हवाई जहाज में पैदा होने वाले बच्चों के नागदा को लेकर दुनिया के देशों में अलग-अलग नियम कानून है।