UAE के बाद एक और अरब देश में बनेगा भव्य हिंदू मंदिर, जल्द होगी शुरुआत

यूएई के बाद बहरीन अरब देश का दूसरा देश होगा, जहां पर भव्य हिंदू मंदिर बनने जा रहा है। इससे पहले यूएई में मंदिर बन चुका है।

इस पर बातचीत के लिए बहरीन के क्रॉउन प्रिंस और प्रधानमंत्री सलमान बिन हमाद बिन खलीफा ने सऊदी अरब के बीएपीएस हिंदू मंदिर के प्रमुख व्यक्तियों से मुलाकात की है।

मंदिर के निर्माण के लिए बहरीन की सरकार ने दान दी है जमीन

यूएई के आबूधाबी में बने इस मंदिर के प्रमुख पूज्य ब्रह्मा विहारी और बीएपीएस स्वामीनारायण संस्था के प्रतिनिधिमंडल ने मनामा स्थित शाही महल में क्राउन पुलिस से भेंट की थी। आपको बताते चलें कि बहरीन मध्य पूर्व का ऐसा दूसरा देश है जहां पर हिंदू मंदिर बनाया जाएगा। मंदिर निर्माण के लिए बहरीन की सरकार ने जमीन भी उपलब्ध कराई है। जो कि पूरी तरह मुफ्त है।

दोनों देशों के संबंधों के मजबूत

क्रॉउन प्रिंस ने मंदिर निर्माण के लिए जो जमीन दान स्वरूप दी है उसके लिए ब्रह्मा विहारी स्वामी ने उनके प्रति आभार प्रकट किया है। उन्होंने कहा,”हम जमीन के रूप में यह ऐतिहासिक उपहार मिलने पर बहरीन के क्राउन प्रिंस और भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शुक्रगुजार हैं। यह दोनों देशों के बीच गर्मजोशी से भरे संबंधों को दर्शाता है।”

पीएम मोदी ने दिया खास संदेश

बहरीन में हिंदू मंदिर के निर्माण के लिए हुई इस मुलाकात को लेकर भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का संदेश ब्रह्म विहारदास ने क्राउन प्रिंस को दिया, जिसमें मोदी ने इस ऐतिहासिक क्षण का तहे दिल से स्वागत किया है। भारतीय प्रधानमंत्री ने क्राउन प्रिंस को बीएपीएस के वैश्विक आध्यात्मिक नेता महंत स्वामी महाराज का आशीर्वाद और शुभकामनाएं भी दीं।

सभी धर्मों के लोगों के लिए खुले रहेंगे मंदिर के दरवाजे

बीएपीएस मध्य पूर्व के प्रमुख स्वामी ने कहा कि इस मंदिर के दरवाजे सभी धर्मों के लोगों के लिए खुले रहेंगे। जो लोग भी भारतीय दर्शन और परंपराओं से रूबरू होना चाहते हैं। उनका मंदिर में स्वागत है। उन्होंने अपनी बातचीत में कहा,” बीएपीएस स्वामीनारायण मंदिर का निर्माण हिंदू धर्म के लिए ऐतिहासिक पल है. यह भारत और बहरीन के संबंधों के लिए भी खास है. साथ में अंतरराष्ट्रीय सौहार्द के लिए महत्व रखता है।”

गौरतलब है कि संयुक्त अरब अमीरात में पहले हिंदू मंदिर का निर्माण कार्य चल रहा है। कुछ दिनों पहले ही इसकी शुरुआत हुई थी। इस मंदिर का काम फरवरी 2024 तक पूरा हो जाएगा जिसके बाद इस मंदिर को आम जनता के लिए खोल दिया जाएगा।

Leave a Comment