बिना पासपोर्ट कोई भी भारतीय कर सकते हैं इन देशों की यात्रा, बस रखना होगा ये कागजात

गर्मियों का मौसम आते ही लोग छुट्टियां बिताने के लिए फेवरेट डेस्टिनेशन की तलाश में जुट जाते हैं। कुछ लोग जहां देश के अलग-अलग हिस्सों में घूमना पसंद करते हैं तो बहुत सारे लोग विदेश जाने का प्लान बनाते हैं। हालांकि कई दफा देखा गया है कि पासपोर्ट ना होने के चलते उनकी इस ख्वाब पर पानी फिर जाता है और सोचने लगते हैं कि जितने दिनों में पासपोर्ट बनकर तैयार होगा उतने दिनों में कहीं दूसरी जगह घूम आते हो। अक्सर ऐसा ही होता है।

मगर इस आर्टिकल के जरिए हम आज उन देशों के बारे में आपको बताएंगे जहां पर भारतीय बगैर पासपोर्ट के भी घूमने के लिए जा सकते हैं। लेकिन ध्यान रखने वाली बात यह है कि अगर आप इन देशों की यात्रा करें तो इस दौरान आपको कुछ जरूरी कागजात अपने पास रखने चाहिए।

नेपाल की यात्रा करना है बेस्ट ऑप्शन

वैसे तो नेपाल भारत का पड़ोसी मुल्क है। लेकिन यहां पर भारतीय नागरिकों को जाने के लिए पासपोर्ट की जरूरत नहीं पड़ती है। जो भी टूरिस्ट नेपाल जाकर पर्यटन का आनंद उठाना चाहते हैं। उनके लिए यह जगह एकदम बेस्ट है। हालांकि उनके पास अपनी यात्रा के दौरान भारत सरकार द्वारा जारी एक फोटो आईडी कार्ड या फिर इलेक्शन कमीशन द्वारा जारी किया गया वोटर आईडी कार्ड होना आवश्यक है।

यह देश में विभिन्न पर्यटन स्थल है। इसके अलावा यह देश अपनी आध्यात्मिक चीजों के लिए विश्व प्रसिद्ध है। विश्व की सबसे ऊंची पर्वत चोटी माउंट एवरेस्ट नहीं पर स्थित है। दूसरी तरफ यह देश सांस्कृतिक एवं बौद्ध स्थलों के लिए जाना जाता है।

ट्रेकर्स के लिए सबसे अच्छा है पोखरा

काठमांडू नेपाल की राजधानी होने के साथ-साथ पवित्र स्थलों और स्थान ऐतिहासिक स्थानों से चौतरफा गिरा हुआ है। अगर आप नेपाल घूमने आए हैं तो आपको यहां जरूर जाना चाहिए। काठमांडू में स्थित चितवन राष्ट्रीय उद्यान टूरिस्ट को सबसे अधिक लुभाता है। नेपाल का पोखरा ट्रेकर्स के दीवानों के लिए यह क्षेत्र बिल्कुल मुफीद है।

नेपाल की यात्रा करने का ये होता है सबसे अच्छा समय

नेपाल यात्रा पर जाने का सबसे अच्छा समय अक्टूबर और नवंबर के अलावा दिसंबर का महीना होता है। इन महीनों में वहां नीला आसमान और हिमालय के शानदार नजारे देखने को मिलते हैं। गर्मियों के मौसम में यहां का मौसम ड्राई नजर आता है।इसके अलावा यहां की खास बात यह है कि यहां के हर क्षेत्र में अलग-अलग तापमान का अनुभव होता है।

भूटान की यात्रा के लिए नहीं दिखाना होगा पासपोर्ट

अगर आप भूटान की यात्रा पर जाना चाहते हैं तो आपको भारत इलेक्शन कमीशन द्वारा जारी किए गए वोटर आईडी कार्ड को अपने साथ ले जाना होगा। यह देश की यात्रा करने के लिए सबसे खास बात यह है कि यहां पर आपको बगैर पासपोर्ट के जाने की भी इजाजत मिल जाती है।

हालांकि इस देश में एंट्री पाने के लिए आपको एक वैध फोटो पहचान पत्र अपने पास रखना होगा। यहां पर आपको मनोरम प्रकृत का नजारा आकर्षित करेगा। इस देश की खास बात यह है कि यहां पर 72% भाग वनों से ढका हुआ है। जो इस देश की खूबसूरती में चार चांद लगाता है।

भूटान में इन जगहों का कर सकते हैं दीदार

भारत का पड़ोसी मुल्क भूटान अपनी पारंपरिक बौद्धिक विरासत से पूरी दुनिया में जाना पहचाना जाता है। इस देश में पर्यटन के दौरान आप अपने परिवार, पाटनर या फिर दोस्तों के संग घूम- फिर सकते हैं। इस देश की राजधानी थिंपू हिमालय की चोटियों के ऊपर विराजमान है। जिसके चारों तरफ हरियाली और नदियों का फैलाव है।

इसके अलावा यहां पर कई खूबसूरत मंदिर, म्यूजियम :- बोंडे लखांग, खांगखु लखांग, टैगो लखांग, ड्रुक चोइंग और राष्ट्रीय संग्रहालय भी हैं। अगर आप भूटान की यात्रा पर है तो आपको इन जगहों पर एक बार अवश्य जाना चाहिए।

भूटान देश की यात्रा करने का यह होता है सबसे अच्छा समय

नेपाल की तरह ही भूटान देश की यात्रा करने का सबसे अच्छा समय अक्टूबर, नवंबर और दिसंबर माह को माना जाता है। ऐसा इसलिए क्योंकि इस दौरान देश का अधिकतर मौसम ठीक ठाक रहता है। और इन महीनों में आपको ठंडी हवाओं के साथ धूप कभी नजारा देखने को मिलता है।

Leave a Comment