जानिए बुर्ज दुबई से बुर्ज खलीफा बनने की स्टोरी, क्या राष्ट्रपति शेख खलीफा बिन जायद से है खास कनेक्शन?

संयुक्त अरब अमीरात (UAE) से एक दुखद खबर सामने आई है। UAE के राष्ट्रपति शेख खलीफा बिन जायद अल नाह्यान का निधन हो गया है। उन्होंने 73 वर्ष की उम्र में दुनिया को अलविदा कहा।

उनके निधन को दुनिया अपूरणीय क्षति के रूप में देख रही है। उनके निधन पर संयुक्त अरब अमीरात में 40 दिन का राष्ट्रीय शोक घोषित किया गया है।

आर्थिक संकट से बचाने में था अहम योगदान

शेख खलीफा बिन जायद अल नाहयान

आपको बताते चलें कि पिछले कई से शेख खलीफा बिन जयाद अल नाह्यान राजनीति में सक्रिय नहीं थे। उनकी अधिकतर जिम्मेदारियां उनके भाई मोहम्मद बिन जायद देख रहे थे। मगर उन्होंने समय आने पर अपनी उपस्थिति दर्ज कराई थी।

गौर करने वाली बात ये है कि एक समय ऐसा भी आया जब साल 2009 पूरी दुनिया की अर्थव्यवस्था मंद पड़ है थी तो इसका प्रभाव यूएई पर भी देखने को मिला था। दुबई भी बड़ा आर्थिक संकट झेल रहा था। ऐसी स्थिति से निपटने के लिए UAE ने उस दौरान 20 बिलियन डॉलर का बेल आउट पैकेज देकर दुबई को डिफाल्टर घोषित होने से बचाया था।

उनके सम्मान में बुर्ज दुबई का नाम बदलकर किया गया था बुर्ज खलीफा

इस पैकेज की बदौलत दुबई की अर्थव्यवस्था में व्यापक सुधार हुए थे। ऐसे में इस उसने बुर्ज दुबई का नाम बदलकर बुर्ज खलीफा कर दिया था। नाम बदलकर शेख खलीफा बिन जायेद अल नह्यान के प्रतीक सम्मान प्रदर्शित किया था। आर्थिक संकट के दौरान खलीफा के नेतृत्व और आर्थिक सहायता ने दुबई की अर्थव्यवस्था को डूबने से बचा लिया था।

संयुक्त अरब अमीरात के दूसरे राष्ट्रपति बने शेख खलीफा

जानकारी के लिए आपको बता दें, शेख खलीफा का साल 1948 में जन्म हुआ था। वो यूएई के दूसरे राष्ट्रपति और अबु धाबी के 16वें शासक थे।

उन्हें अपने पिता, स्वर्गीय महामहिम शेख जायद बिन सुल्तान अल नाहयान के उत्तराधिकारी के लिए चुना गया था, जिन्होंने 1971 में संघ के बाद से यूएई के पहले राष्ट्रपति के रूप में कार्य किया, जब तक कि 2 नवंबर, 2004 को उनका निधन नहीं हो गया। वहीं संयुक्त अरब अमीरात के राष्ट्रपति बनने के बाद से, शेख खलीफा ने संघीय सरकार और अबू धाबी की सरकार दोनों के एक बड़े पुनर्गठन की अध्यक्षता की है।

अबू धाबी के क्राउन प्रिंस ने किया शोक व्यक्त

अबू धाबी के क्राउन प्रिंस और यूएई सशस्त्र बलों के उप सर्वोच्च कमांडर शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान ने यूएई के राष्ट्रपति शेख खलीफा बिन जायद अल नाहयान के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि “खलीफा बिन जायद ।। मेरे भाई, मेरे गुरु, मेरे शिक्षक। आपकी आत्मा को शांति मिले।

वहीं उन्होंने कहा कि “यूएई ने एक प्रिय नागरिक, अपने सशक्तिकरण चरण के नेता और अपनी यात्रा के संरक्षक को खो दिया है। उनकी उपलब्धियां, बुद्धिमता, उदारता और पहल देश के कोने-कोने में गूंजती है।”

Leave a Comment