skip to content

दुबई से भारत लौटे यात्री को अमृतसर एयरपोर्ट से किया गया गिरफ्तार, सामने आयी ये वजह

दुबई की उड़ान से भारत लौट एक यात्री को कस्टम विभाग ने अवैध सोना लाने की शक होने पर गिरफ्त में ले लिया है। फिलहाल मामले की जांच जारी है दुबई से सोना लेकर लौटे शख्स ने मेटल डिटेक्टर से बचने के लिए सोने को वह पेस्ट बनाकर लाया था।

मगर फिर भी कस्टम विभाग की नजर से बच नहीं सका और पकड़ा गया दुबई से स्पाइसजेट की उड़ान संख्या एसजी 711 अमृतसर की गुरु रामदास अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर उत्तरी। फ्लाइट से बाहर निकालकर सिक्योरिटी चेक पॉइंट पर सोना लाने के आरोपी को कस्टम विभाग की टीम ने संदिग्ध हरकतों के चलते हिरासत में लेकर उसकी तलाशी ली तो उसके पास से उसकी पेंट में 174. 40 ग्राम गोल्ड का पेस्ट मिला।

दुबई से भारत लौटे यात्री को अमृतसर एयरपोर्ट से किया गया गिरफ्तार, सामने आयी ये वजह

जबकि इसे सोने में परिवर्तित किया गया तो इसका वजन 140 .72 ग्राम हो गया। दुबई से अवैध रूप से भारत लाए गए इस सोने का मूल्य लगभग 7. 40 हज़ार रुपए आंका गया है।

पहले भी इस तरह के कई मामले सामने आ चुके हैं

दुबई से भारत सोना अवैध रूप से लाने का यह कोई पहला मामला नहीं है। इसके पहले भी इस तरह के कई तरीके के मामले सामने आ चुके हैं। इस मामले के पहले अमृतसर हवाई अड्डे पर ठीक ऐसा ही मामला सामने आ चुका है। अमृतसर एयरपोर्ट पर अक्टूबर माह में 16 सौ ग्राम बरामद किया जा चुका है।

दुबई से भारत लौटे यात्री को अमृतसर एयरपोर्ट से किया गया गिरफ्तार, सामने आयी ये वजह

यह सोना एक दुबई से लौटे आदमी ने पेस्ट बनाकर भारत लाने की कोशिश की थी। मगर नई दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर 11 दिसंबर 2018 को टर्मिनल 1 से वह सोने के पेस्ट साथ पकड़ा गया था। सोलह सौ ग्राम अवैध रूप से सोना लाने का आरोपी दुबई से लौटकर मुंबई जाने की कोशिश में था। मगर उसे दिल्ली के इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर कस्टम विभाग के अधिकारियों ने दबोच लिया था।

मेटल डिटेक्टर से बचने के लिए बनाते हैं सोने का पेस्ट

आपको बता दें कि मेटल डिटेक्टर से बचने के लिए सोने की स्मगलिंग करने वाले व्यक्ति सोने को पेस्ट में परिवर्तित कर देते हैं। ऐसे में वह आसानी से मेटल डिटेक्टर को चकमा दे जाते हैं। मगर भारत के एयरपोर्ट पर कड़ी सुरक्षा होने के चलते ऐसे मामले सामने आते रहते हैं। कस्टम विभाग की टीम अपराधियों को पकड़ कर सलाखों के पीछे भेज देती है।